Share Market क्यो कम ज्यादा होता है । why share market up and down?

Share Market कम ज्यादा क्यो होता है ? Why Share market fluctuate ? शेयरों के भाव ऊपर नीचे क्यों होते हैं और Share market में उतार चढ़ाव के क्या कारण हैं जिससे शेयर का भाव कभी गिरता है कभी बढ़ जाता है

Tv और अखबारों में शेयर बाजार Live update में आये दिन सुनने को आता है कि आज शेयर बाजार में फिर से बढ़त Share market में भयंकर गिरावट निवेशकों के 20 हजार करोड रुपिये डूब गए

Nifty 200 अंक टूटा Sensex में 500 अंक की गिरावट Nifty में 210 अंक चढ़ा और 11600 के पार Sensex 700 अंक चढ़ा और 38000 के पार

आखिर ऐसे क्या कारण होते हैं जिससे Share Market or Nifty or Sensex में उतार चढ़ाव आते रहते हैं और साथ ही कंपनियो के शेयर प्राइस भी कम ज्यादा होते रहते हैं

शेयर बाजार में उतार चढ़ाव क्यो आते हैं ? Nifty aur Sensex कम ज्यादा क्यो होते हैं ? Why share prices go up and down शेयर मार्केट कम ज्यादा क्यो होता है और कंपनियो के शेयर के भाव कैसे और क्यों बदलते हैं Why share market fluctuate

इन सब बातों के कारण और Share market कम ज्यादा क्यो होता है ? Why share market up and down in hindi इस पोस्ट में विस्तार से समझाएंगे

Share Market कम ज्यादा क्यो होता है – Why share market fluctuate

हमारे देश के शेयर बाज़ार में दो Stock exchange हैं 1. Bomaby stock exchange – इसे BSE भी कहते हैं इसमे लगभग 5500 कंपनी listed हैं और दूसरा है

2. National stock exchange – इसे NSE भी कहते हैं इसमें लगभग 1600 कंपनी लिस्टेड हैं

इन सभी कंपनियो के share price कभी कम होते हैं कभी ज्यादा हो जाते हैं

और जब इन कंपनियों के share price कम ज्यादा होते हैं यानी इनके share price में जब उतार चढ़ाव आता है तो Share Market में भी उतार चढ़ाव आता है Why share market up and down in hindi

जिन कारणों से share market में उतार चढ़ाव आता हैं प्रमुख कारण इस प्रकार हैं

मानसून

अच्छी बारिश के अनुमान से Share Market ऊपर जाता है क्योंकि जब मानसून अच्छा होता है यानी अच्छी बारिश होती है तो कंपनियो का कारोबार और उत्पादन अच्छा होता है

अतः जब मानसून और बारिश अच्छी होती है तो कंपनियो के कारोबार और उत्पादन के बढ़ने से कंपनियो के मुनाफा कमाने के चांसेस बढ़ जाते हैं और निवेशक शेयर बाज़ार यानी कंपनियो में ज्यादा निवेश करते हैं

जिससे कंपनियो के शेयर की Demand बढ़ जाती है जिससे शेयर प्राइस बढ़ जाते हैं और share market ऊपर जाता है

इसी प्रकार खराब मानसून और बारिश के कारण इसके ठीक विपरीत होता है निवेशक शेयर बेचने लगते हैं जिससे share price कम हो जाती है और Share Market Down होता है यानी Share market नीचे जाता है

कंपनियो के Quarterly Result

कंपनियो को तीन महीने में एक बार यानी वर्ष में चार बार अपनी Financial Report सार्वजनिक रूप से Publicly पेश करनी होती है जिसे Quarterly Result कहते हैं

जिसमें कंपनी को कितना मुनाफा या नुकसान हुआ का पूरा ब्यौरा होता है

और जब कंपनियो के Quarterly result में मुनाफा Declare होता है तो इसका मतलब होता है Companies अच्छी ग्रोथ कर रही है और मुनाफा कमा रही हैं जिससे उनके शेयर के भाव बढ़ जाते हैं और Share Market ऊपर जाता है

और जब इसका उल्टा होता है यानी कंपनियो के Quarterly result में Loss नुकसान Declare होता है तो कंपनियो के शेयर के भाव गिर जाते हैं और Share market नीचे जाता है

देश – विदेश की घटनाएं

शेयर बाज़ार के अच्छा Perform करने के और ऊपर जाने के लिए शांत और अच्छा माहौल होना चाहिए

जब दो देशों के बीच जंग छिड़ जाती है युद्ध के हालात हो जाते हैं या Trade War आयात निर्यात टैक्स की लड़ाई (ट्रेड वॉर) छिड़ जाता है तो निवेशक डर जाते हैं और शेयर मार्केट से Quick Exit होने लगते हैं

जिससे कंपनियो के शेयर के भाव गिर जाते हैं और Share Market में भयंकर गिरावट होती है जिससे Share market down नीचे जाता है

इसके विपरीत जब सब चीजें अच्छे से चलती हैं शांत माहौल होता है और आपस में फायदे वाली Trade deals होती हैं तो शेयर Market ऊपर जाता है

जब अन्य दूसरे देशों में ऐसा होता है तो उसका फर्क हमारे शेयर बाज़ार पर भी पड़ता है

जब अमेरिका, रूस, चीन और अरब देशों में ट्रेड वॉर या युद्ध होता है तो उसका असर हमारे Share Market में पड़ता है

Fraud और घोटाले

भारतीय शेयर बाज़ार का सबसे पहला घोटाला हर्षद मेहता ने किया था 1992 में हर्षद मेहता ने बढ़ते Share Market चालाकी से खूब पैसा कमाया और और उस समय मे उसने चार हजार करोड का ऐसा फ्रॉड और घोटाला किया जिससे Share market से लेकर सरकार तक हिल गयी थी – Share market kam jyada kyo hota hai

उस समय लोगो का इतना नुकसान हुआ कि कुछ तो अपने loss को बर्दाश्त ही नही कर पाएं और आत्महत्या तक करने को मजबूर हो गए थे

बाद में हर्षद मेहता को 5 वर्ष की सजा हुई और 25000 हजार रुपिये का जुर्माना लगाया गया और 2001 में अचानक सीने में हुए दर्द से मौत हो गई

इसके बाद तो आये वर्ष Share market fraud बढ़ते ही चले गए और हाल ही में विजय माल्या नीरव मोदी ने घोटाले किये DHFL PNB बैंक YASH बैंक PMC बैंक घोटालों ने शेयर बाज़ार को हिला के रख दिया एक तरह से कहा जाए तो लोगो का बैंकों से विश्वास ही उठ गया

इस प्रकार के फ्रॉड और घोटालों से शेयर बाज़ार में भयंकर गिरावट आती है और Share market लंबे समय तक के लिए गिर जाता है

चुनाव और पूर्ण बहुमत की सरकार

जब पूर्ण बहुमत की सरकार सत्ता में होती है तो वह कोई भी फैसले लेने में स्वतंत्र होती है और ज्यादा मजबूत फैसले ले सकती है

गठबंधन वाली सरकार में मजबूत फैसलों के चांसेस कम होते हैं और कोई फैसले लिए जाते हैं तो उनमें फेरबदल होने के चांसेस बने रहते हैं Share market kam jyada kyo hota hai

इसलिए निवेशक पूर्ण बहुमत वाली सरकार के समय Share Market में निवेश करने में ज्यादा Interested होते हैं अतः ऐसी स्थिति में शेयर बाज़ार के ऊपर जाने के चांसेस ज्यादा होते हैं

इसके विपरीत गठबंधन वाली सरकार के समय समय शेयर बाज़ार के ऊपर जाने के चांसेस थोड़े कम हो जाते हैं

हर सरकार अपने हिसाब से अलग अलग नीतियां बनाती हैं और अलग अलग फैसले लेती है जैसे Congress कांग्रेस सरकार की अलग नीतियां होती हैं और भारतीय जनता पार्टी BJP की अलग नीतियां होती हैं

इन नीतियों और फैसलों को निवेशक और शेयर बाजार जिस रूप में देखते हैं Share Market उसी हिसाब से अपनी दिशा में जाने को मजबूर होता है

यदि निवेशक और शेयर बाज़ार इन नीतियों और फैसलों को अपने हित Positive sense में देखते हैं तो Share market ऊपर जाता है और यदि निवेशक और शेयर बाज़ार इन फैसलों और नीतियों को Negative sense में देखते हैं तो Share market down नीचे जाता है

हो सकता है इस बात का असर सभी कंपनियो पर ना पड़े लेकिन अधिकतर Companies इससे प्रभावित होती है

Bank Interest or loan Rates

समय और परिस्थिति के हिसाब से RBI guideline के अनुसार जब देश मे Fixed deposit – FD , AFPP फण्ड Securities और Loan के Interest Rate ब्याज दरें कम हो जाती है

तो लोग Mutual fund or Share market में ज्यादा निवेश करते हैं इसके साथ ही FII और DII भी शेयर मार्केट में बहुत बड़ी Amount धनराशि के साथ निवेश करते हैं

जिससे शेयर बाज़ार में निवेश बढ़ जाता है कंपनियो को बहुत सारा पैसा प्राप्त होता है उनमें ग्रोथ होती है और Share market ऊपर जाता है

और इसी प्रकार जब इसके विपरीत होता है यानी जब Fixed deposit और AFPP FUND etc पर ही अच्छा Returns मिलता है तो लोग Share market में Risk लेने के बजाय इन्ही में निवेश करने को ज्यादा Priority देते हैं जिससे शेयर बाज़ार के ऊपर जाने के चांसेस कम होते हैं

सरकार द्वारा किये गए सुधार प्रयास

समय समय पर सरकार देश की अर्थव्यवस्था और GDP को मजबूत करने के लिए और विदेशी निवेशकों को हमारे देश मे आकर्षित करने के लिए देशवासियों के हित मे सुधार प्रयास करती है जिससे सरकार को भी फायदा होता है Why share market up and down in hindi

जैसे अभी हाल ही में हमारे Financial minister वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कंपनियो के लिए Corporate tax में भारी कटौती की घोषणा करते हुए इसे 22 से 30 % तक दिया है

पहले भारतीय कंपनियो को 30 प्रतिशत कॉरपोरेट टैक्स के अलावा सरचार्ज भी देना होता था और विदेशी कंपनियो को 40 प्रतिशत तक Corporate tax का भुगतान करना होता था

इससे दो ही दिनों में Nifty और शेयर बाजार में 6 % काउछाल आ गया

इस प्रकार कॉरपोरेट टैक्स के कम होने से कंपनियो का मुनाफा बढ़ जाता है जिससे Share market ऊपर जाता है साथ ही कंपनियो के Capital gain से tax के रूप में सरकार को धन प्राप्त होता है जिससे Govt को भी फायदा होता है

World wide pendamic

जब World wide पूरी दुनिया मे कोई महामारी फैल जाती है कंपनियो का कारोबार और उत्पादन कम हो जाता है लोगों का काम धंधा ठप हो जाता है

जैसे अभी हाल ही में कोरोना नामक महामारी ने पूरे देश और दुनिया मे तबाही मचाई हुई है इसके कारण सभी लोग अपने घरों में अंदर ही रहने को मजबूर हैं इससे Railways flight Buses Restaurant Vehicle company Schools etc सभी का कारोबार ठप हो गया है

इससे कई दिन तक लंबा Reccision चलता है और देश मे बेरोजगारी बढ़ जाती है महँगाई बढ़ जाती है जिससे शेयर बाज़ार में मंदी आती है और Share market नीचे जाता है यानी गिर जाता है 

Conclusion – Share market कम ज्यादा क्यो होता है

आशा करते हैं आप को Share market कम ज्यादा क्यो होता है और Share market में उतार चढ़ाव क्यो आते हैं अच्छे से समझ आ गया होगा

ऊपर बताये कारणों के अलावा Share Market कम ज्यादा क्यो होता है ? इसके और भी बहुत से कारण होते हैं जिनकी चर्चा हम अगले पोस्ट में विस्तार से करेंगे

जिसमे हम समझेंगे की किसी Company के शेयर का भाव चढ़ता गिरता कैसे है Why share prices go up and down , Why Share price fluctuate जिससे शेयर बाजार में उतार चढ़ाव आते हैं

यदि अभी भी आपके कुछ सवाल हैं या सलाह देना चाहते हैं या आप Share market कम ज्यादा क्यो होता है और Share market में उतार चढ़ाव क्यो आते हैं ? इसके और भी कारण जानते हैं Why share market up and down in hindi तो कमेंट में जरूर बताएं